• 07 AUGUST 2020
  • City news 
  • Political news

Youtube button

रायपुर. स्वर्गीय श्री अजीत जोगी जी के जाति प्रकरण में उनके स्वर्गवास के उपरांत उनकी पत्नी और पुत्र को पक्षकार बनाए जाने पर राज्य सरकार की आपत्ति और विरोध पर अध्यक्ष अमित जोगी ने अपनी प्रतिक्रिया देते ट्वीट करके कहा कि मेरे पिता स्वर्गीय अजीत जोगी जी अपनी जाति के सम्मान की लड़ाई उच्च न्यायालय में लड़ रहे थे। उनकी ये लड़ाई मेरी माँ और मैंने जारी रखने का आवेदन किया है। समझ से परे है कि इसमें भी किसी को क्या आपत्ति हो सकती है?

यह भी पढ़ें – बड़ी खबर : राजस्व विभाग का निरीक्षक 8 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार ; पढ़िए पूरा मामला

अमित जोगी ने कहा कि अगर सरकार को लगता है कि वो हमें न्यायालय और चुनाव के मैदान में अपना पक्ष रखने से ही वंचित कर सकती है, तो यह केवल उसके घमण्ड और ग़ुरूर को दर्शाता है। पापा की ही तरह मेरी माँ और मुझे, बाबा साहब अम्बेडकर द्वारा स्थापित संवैधानिक व्यवस्था में पूरी आस्था है जिसके रहते न्यायपालिका की शरण और जनता के बीच में हमें जाने से कोई नहीं रोक सकता।

Whatsapp button

Youtube button