छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में सोमवार की सुबह व्यापारी और आम लोग कोविड प्रोटोकॉल की परेड में ‘लेफ्ट-राइट’ करते दिखे। दरअसल अब शहर के 11 चुने हुए बाजार में सड़क के राइट और लेफ्ट की दुकानों को एक दिन का गैप लेकर खोला जा रहा है। सोमवार को गोलबाजार, मालवीय रोड सदर बाजार की सड़क की एक तरफ की दुकानें ही खुलीं। दूसरी तरफ की बंद दुकानों के दुकानदार इस प्रशासनिक फैसले से खुश नजर नहीं आए। उनका कहना था कि बाजार में तो लोग आ ही रहे हैं, उनकी दुकानें भी खुल जाएंगी तो क्या हर्ज है। उधर, सुबह से ही पुलिस और नगर निगम के अफसर व्यापारियों को समझाने बाजार में घूमते रहे। सख्ती की वजह से एक तरफ की दुकानें ही खोली गईं।

तस्वीर रायपुर के जय स्तंभ चौक की 9 अप्रैल से लॉकडाउन के बाद सोमवार को यहां भीड़ दिखी।
तस्वीर रायपुर के जय स्तंभ चौक की 9 अप्रैल से लॉकडाउन के बाद सोमवार को यहां भीड़ दिखी।

इन इलाकों में तो लगा लॉकडाउन है ही नहीं
रायपुर के संतोषी नगर, टिकरापारा, लाखे नगर, सुंदर नगर, बढ़ई पारा, रोहिणीपुरम का अंदरूनी हिस्सा, ये वो जगहें हैं जो सड़क की दोनों तरफ दुकानें खुलीं दिखीं। यहां किसी तरह की रोक टोक भी नजर नहीं आईं। सड़कों पर भीड़ और चहल पहल भी ऐसी थी जैसे लॉकडाउन ही न लगा हो जबकि रायपुर में 31 मई तक लॉकडाउन खुला है। सोमवार से मिठाई दुकानें, बेकरी, वगैरह भी खोलने के आदेश थे तो कारोबारी भी पीछे नहीं हटे। लॉकडाउन में मिली छूट की वजह से इन इलाकों में मुख्य बाजार पूरी तरह से खुला दिखा, हालांकि शाम 5 बजे तक ही व्यवसाय करने की छूट है।

तस्वीर संतोषी नगर इलाके की सड़क के दोनों ओर लगभग हर दुकान खुली है।
तस्वीर संतोषी नगर इलाके की सड़क के दोनों ओर लगभग हर दुकान खुली है।

लाल और पीले स्टीकर से बनी व्यवस्था
रायपुर के रवि भवन, जय राम कॉल्पलेक्स, लाल गंगा शॉपिंग मॉल की दुकानों को भी सोमवार से खोला गया। यहां दुकानदार लाल और पीले स्टीकर के दम पर व्यवस्था बनाए नजर आए। जिन दुकानों पर लाल स्टीकर लगे थे वो सोमवार, बुधवार, शुक्रवार को खुलेंगी। जिन पर पीला स्टीकर है उनका दिन मंगलवार, गुरुवार और शनिवार है। इन कॉम्पलेक्स में दोपहर तीन बजे तक ग्राहकों की बेहद कम आवाजाही रही।

सामान दे रहे दुकानदार के पीछे बंद शटर मंगलवार को खुलेंगे, तस्वीर गोलबाजार की।
सामान दे रहे दुकानदार के पीछे बंद शटर मंगलवार को खुलेंगे, तस्वीर गोलबाजार की।

दुकानों को लेकर कंफ्यूजन भी
गोल बाजार में दर्जनों दुकानें ऐसी हैं जिनके शटर सड़क अंदर की गलियों में राइट में भी हैं, लेफ्ट में भी, इन दुकानदारों ने अपनी दुकानों को खोल लिया। गोल गुंबद के नीचे के दुकानदार भी इसी कंफ्यूजन में रहे कि क्या करें। दुकानदारों ने यूनियन से कहा कि उन्हें पूरी दुकानें खोलने की अनुमति दें, यह बहस सुबह से होती रही। कुछ दुकानदारों ने अपनी दुकान खोल भी ली।

तस्वीर रवि भवन की।
तस्वीर रवि भवन की।

3 दिन सभी दुकानें खोलने की मांग
बाजार में दुकानदारों ने दैनिक भास्कर से कहा कि इस वक्त आधा-आधा करके बाजार हफ्ते में 6 दिन खोला जा रहा है। प्रशासन चाहे तो ये भी कर सकता है कि पूरी दुकानें सिर्फ 3 दिन के लिए खुलवा दे। हफ्ते के बाकी दिन लॉकडाउन रखा जाए। व्यापारी तो तीन दिन ही दुकान खोलेगा मगर लोगों को दिक्कत नहीं होगी। आधी-आधी दुकानें 6 दिनों तक खोलने की वजह से बाजार में लोग तो 6 दिनों तक आते रहेंगे।

सुबह के वक्त दुकानदारों को समझा कर सिर्फ एक तरफ की दुकान ही खोलने की बात अफसर करते रहे
सुबह के वक्त दुकानदारों को समझा कर सिर्फ एक तरफ की दुकान ही खोलने की बात अफसर करते रहे

31 मई तक ये होगी व्यवस्था
रवि भवन, लाल गंगा और जयराम कॉम्प्लेक्स में दुकानों को नंबर और स्टीकर जारी हुए हैं। ऑड नंबर की दुकानें पहले फिर एक दिन बाद ईवन नंबर की दुकानें खुलेंगी। गोल बाजार, मालवीय रोड, बंजारी मार्केट, सदर बाजार, बूढ़ा तालाब से लेकर लाखे नगर, एम जी रोड, गुढियारी बाजार में पहले दाएं फिर बाएं की खुलेंगी। पंडरी के पांच बाजार में भी लेफ्ट-राइट पर सहमति बनी है।

सुबह दुकान खुलते ही लोग जरूरत का सामान लेने पहुंचे।
सुबह दुकान खुलते ही लोग जरूरत का सामान लेने पहुंचे।