सिटी न्यूज CN

रायपुर  – बीरगांव

सीएम भूपेश बघेल ने रायपुर के उरला थाना प्रभारी द्वारा आम जनता पर किए गए व्यवहार को बताया अमानवीय। कहा- ऐसा स्वीकार्य नहीं है। ट्वीट कर लिखा- विभागीय जांच का गठन किया गया है और उसे छुट्टी पर भेज दिया गया है।

रायपुर / छत्तीसगढ़ में राज्य के डीजीपी ने पुलिसकर्मियों को साफतौर पर निर्देशित किया है कि वे आम नागरिकों पर लाठी डंडे ना बरसाए | बल्कि कानून का उल्लंघन होने पर वैधानिक कार्रवाई करे | लेकिन कुछ थानेदार ऐसे है जो पुलिस की छवि पर बट्टा लगाने में पीछे नहीं है | मामला राजधानी के उरला थाना इलाके के बिरगांव कंटेनमेंट जोन में लोगों पर बेरहमी से लाठी बरसाने का है |

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले उरला के एक तालाब में डुबकर एक बच्चे की मौत हो गई थी , गांव वाले मृतक के परिजनों के आग्रह पर शासन से मुआवजा की मांग हेतु सड़क किनारे पार्थिव शरीर को लेकर सांकेतिक रूप से शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे थे तभी उरला थाना के टी आई गांव वालों और परिजनों पर बेरहमी पूर्वक फूल ताकत से डंडा बरसाना चालू कर दिया जिससे बेदराम साहू, ओमप्रकाश साहू और तीन अन्य लोगों को घायल हो गए थे, जब पुलिस की बर्बरतापूर्वक कार्यवाही का विरोध होना चालू हुवा तो उन लोगों को उल्टा पुलिस पर हाथापाई करने का केस दर्ज कर जेल भेज दिया था एैसे ही कई पुलिसिया गुंडागर्दी के मामले सामने आते रहे हैं , बीरगांव क्षेत्र में अवैध शराब और गांजा की बिक्री खुलेआम धडल्ले से चलता रहा है जिस पर कोई कार्यवाही इनके द्वारा नही किया जाना भी भ्रष्टाचार के तरफ इशारा करता है , इन्होने पुलिस का नाम डुबा दिया न्याय मांगने के लिए थाना जाने वालों को दुत्कार कर भगा देने के अनेको शिकायतें हैं !!

कल के पिटाई का वीडियो वायरल होने के बाद एसएसपी ने मामले को संज्ञान में लिया है | इसके अलावा ग्रामीण एएसपी तारकेश्वर पटेल भी अलग से इस पूरे घटना क्रम की जांच करेंगे | उधर लाठी बरसाने से घायल हुए नागरिकों ने टीआई नितिन उपाध्याय के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की है | उन्होंने बताया कि कई लोग थाने में टीआई के खिलाफ शिकायत करने गए थे | लेकिन उनकी एफआईआर दर्ज ना करते हुए उन्हें बैरंग लौटा दिया गया |

बताया जा रहा है कि इस मामले में क्षेत्रीय बडे नेता का बचाव काम नहीं आया क्योकिं इस मामले को लेकर सीधे मुख्यमंत्री श्री भुपेश बघेल स्वयं कार्यवाही के लिए ट्वीट करके हस्तक्षेप किया  है…  !!

उरला थाना के टी आई की छुट्टी कर दिये जाने से बीरगांव उरला के लोगों में उत्साह का माहौल बना है, कहा जा रहा है कि  न्याय हुवा है  !!