मानसून आया – खुशियां लाया…बरसात में रखें अपना ख्याल – सिटी न्यूज रायपुर

22 June 2020,

City News – CN  City news logo

चीफ एडिटर डा. आकाश देवांगन के कलम से… 🖋

मानसून आया – खुशियां लाया…

रायपुर सहित छत्तीसगढ़ प्रदेश के लगभग सभी जिलों में रिमझिम बरसात ने मौसम को सुहावना कर दिया है, पानी की बूंदो से भीगे मिट्टी की सौंधी महक ने दिल को तरोताजा कर दिया है,  झड़ी – बारिश में पानी की बूंदो के मनोरम दृश्य को नयन से देखते ही रहने का मन करता है , भीगने का मन करता है,  खेलने का मन करता है, गरमागरम भजिया और चाय की चुस्की का आनंद लेने का मन करता है,  पानी के बूंदों की बौछार, शीतल हवा, तन – मन को आनंदित कर देता है !

आसमान से ये गिरता पानी हम सब प्राणियों की रक्षा करता है , पानी की एक -एक बूंद हमें जीवन देता है , इस अनमोल जल को संजोकर, सहेजकर रैन वाटर हार्वेस्टिंग के माध्यम से अपने क्षेत्र के जलस्रोत को बढाने का प्रकृति हमें बेहतर अवसर देता है  !!

आपको बता दें कि बारिश का मौसम आते ही पिछले कुछ घंटो से प्रदेश भर में कंही रिमझिम तो कंही  मूसलाधार बारिश हो रही है, जिसके कारण किसानों के चेहरे पर खुशी छा गई है। खेतों की जुताई – बुआई का काम शुरू हो गया है,  अच्छी बारिश से फसल भी अच्छी होगी, कोरोना संकट के चलते आर्थिक संकट से जूझ रहे किसानों को बडी राहत मिलेगी  !!

बरसात के अनेकों फायदे है तो कुछ नुकसान भी होता है जैसे  लगातार अत्यधिक अधिक बारिश से बहुत से किसानों के खेतों में लबालब पानी भर जाता है, धान पानी में डूब जाते है और खराब होने लगते हैं, अत्यधिक बारिश के कारण नदी – नालों के जलस्तर बढ़ जाता है,  बाढ के कारण आवागमन अवरूध्द हो जाता है,  अनेकों लोग पानी के तेज बहाव में बह जाते हैं, तेज बारिश से गरीबों के झोपड़ी और जर्जर मकान  ध्वस्त होकर गिर जाते हैं , जान माल की हानि होती है , गरज,  चमक और बिजली गिरने से भी जनहानी का खतरा बना रहता है,

बारिश के दिनों में संक्रमण का खतरा बढ जाता है, सर्दी- जुकाम सहित मौसमी बीमारियां हमें संक्रमित कर सकती है , जो कि इस बार ज्यादा खतरनाक साबित हो सकता है क्योंकि कोरोना वायरस के संक्रमण का सिम्पटम भी इसी बारिश के मौसमी बीमारी से मिलता जुलता होने के कारण हमें इस सीजन में बहुत ज्यादा सावधानी बरतने की जरुरत है

लेकिन प्रकृति सदैव धरती के प्राणियों की रक्षा के लिए पानी, धूप और वायू का संतुलन बनाये रखती है,  किंतु कंही कही पर इंसानों के लालच और लापरवाही से प्रदूषण या पर्यावरण का संतुलन बिगड़ने के कारण प्रकृति के प्रकोप की सजा संसार के प्राणियों को मिलता है, वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण को फिलहाल दुनिया प्रकृति के साथ छेडछाड का ही नतीजा मान रही हैं  !!

 ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए हमारे

 YOUTUBE CHANNEL को SUBSCRIBE करें 

 TELEGRAM पर जुड़ें 

Share on :