नई दिल्‍ली, देश में कोरोना के खिलाफ वैक्‍सीनेशन अभियान तेजी से चल रहा है. इस अभियान में बुजुर्गो और 45 साल से ऊपर के लोगों के बाद 18 साल की उम्र पार कर चुके सभी लोगों को वैक्‍सीन लगाई जा रही है. हालांकि अभी भी 18 साल से नीचे के किशोर वर्ग और बच्‍चों के वैक्‍सीनेशन (Covid Vaccination for Children) के लिए लोग बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं ताकि देशभर में स्‍कूल खुलने और तीसरी लहर (Covid Third Wave) की आशंका के दौरान बच्‍चे कोरोना से सुरक्षित रह सकें. इस वक्‍त देश में बच्‍चों को कोविड का टीका (Corona Vaccine) लगाने के लिए वैक्‍सीन कंपनियां ट्रायल कर रही हैं.

बच्‍चों के कोविड वैक्‍सीनेशन को लेकर इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) में ऑपरेशनल रिसर्च ग्रुप ऑफ द नेशनल टास्‍क फोर्स फॉर कोविड-19 डॉ. एनके अरोड़ा का कहना है कि देश में कुल 44 करोड़ बच्‍चे हैं. जिनमें से 12 साल कम उम्र के बच्‍चों की संख्‍या सबसे ज्‍यादा है. वहीं 12 से 17 साल के कुल 12 करोड़ बच्‍चे हैं. फिलहाल भारत में जायकोव डी (ZyCoV-D) को इसी आयुवर्ग के बच्‍चों के टीकाकरण के लिए मंजूरी मिली है. अक्टूबर में किशोर वर्ग को वैक्‍सीन लगना शुरू होने की उम्‍मीद है.

डॉ. अरोड़ा कहते हैं कि देश में सबसे पहले कोमोरबिड बच्‍चों (Comorbid Children) को कोरोना का टीका लगाया जाएगा. जैसा कि बुजुर्गों और व्‍यस्‍कों के लिए फैसला लिया गया था कि जिन्‍हें पुरानी गंभीर बीमारियां हैं उन्‍हें कोविड का टीका पहले दिया गया था. ठीक उसी तरह 12 से 17 साल के बच्‍चों में भी इसी तरह प्राथमिकता तय की जाएगी. हालांकि कई वैक्‍सीन कंपनियां बच्‍चों के लिए वैक्‍सीन बनाने के साथ ही ट्रायल कर रही हैं ऐसे में सिर्फ 12 करोड़ की आबादी को टीका लगने में ज्‍यादा समय भी नहीं लगेगा.

दो साल से ऊपर के बच्‍चों को जनवरी-मार्च के बीच में लगेगा टीका
डॉ. अरोड़ा कहते हैं कि देश में 32 करोड़ बच्‍चे 12 साल से नीचे के हैं. जिनमें बड़ी संख्‍या दो साल से ऊपर वालों की है. कोरोना टीकाकरण में दो साल से नीचे के बच्‍चों को शामिल नहीं किया जाएगा. ऐसे में दो साल की उम्र पूरी कर चुके बच्‍चों को ही टीका लगेगा. अक्‍टूबर तक भारत बायोटेक (Bharat Biotech) सहित कई अन्‍य वैक्‍सीन के ट्रायल का परिणाम आने के बाद जहां किशोर वर्ग को टीका लगना शुरू होगा. वहीं दो साल से लेकर 12 साल तक के बच्‍चों को साल 2022 के जनवरी से मार्च महीने के बीच में टीका लगना शुरू हो जाएगा. यह सरकार का लक्ष्‍य है कि अगले साल ही पहली तिमाही से पहले-पहले दो साल से ऊपर के बच्‍चों को टीका लगाना शुरू कर दिया जाएगा.