• City News 
  • Raipur 

रायपुर। ड्रग्स तस्करी करने वाले गिरोह से जुड़े एक और पैडलर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उसके पास ७ ग्राम से अधिक कोकिन पाउडर(एमडीएमए) मिला है। पुलिस के मुताबिक मूलत: मुंबई का रहने वाला रॉयडन बथैलो का ट्रांसपोर्टिंग कारोबार है। इसके साथ वह पिछले तीन साल से रायपुर व रायगढ़ में रहकर कोकिन पाउडर बेच रहा था।

पुलिस ने उस पर नारकोटिक एक्ट के तहत अपराध दर्ज किया है। रॉयडन रायपुर और बिलासपुर में पकड़े गए ड्रग्स पैडलर श्रेयांश झाबक और मिन्हाज उर्फ हनी से भी जुड़ा था। उनसे भी माल खरीदता था। बाद में गोवा और मुंबई से खुद कोकिन लाकर बेचने लगा था। बाद में आशीष जोशी और निकिता पंचाल को भी गोवा के ड्रग्स तस्कर से मिलवाया था।

यह भी पढ़ें – कोरोना काल में छत्तीसगढ के स्कूली बच्चों का भविष्य अंधकारमय : ऑनलाइन शिक्षा से वंचित सरकारी और निजी स्कूलों के सभी बच्चों को निःशुल्क स्मार्टफोन मोबाइल तत्काल वितरण किया जाये – डॉ. ओमप्रकाश देवांगन

उल्लेखनीय है कि इससे पहले 12 ड्रग्स पैडलर गिरफ्तार हो चुके हैं। मिन्हाज के गिरफ्तार होने के बाद से रॉयडन फरार था। बुधवार को आजादचौक इलाके में उसके छुपे होने की सूचना पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

तीन साल से खपा रहा था कोकिन

रॉयडन मुंबई का रहने वाला है। करीब तीन साल पहले वह रायपुर पहुंचा। और उसने ट्रांसपोर्टिंग का काम शुरू किया। कॉम्पीटिशन ज्यादा होने के कारण वह रायगढ़ चला गया। इस दौरान वह मिन्हाज के संपर्क में आया और फिर श्रेयांश के।

इसके बाद वह खुद गोवा-मुंबई जाकर कोकिन लाने लगा। रायपुर में छोटी-छोटी पार्टी आयोजित करके ड्रग्स बेचने लगा। रायपुर के कई होटलों और क्लबों में आरोपी ने पार्टी आयोजित की है। इसके बाद आशीष जोशी और निकिता के संपर्क में भी आ गया था।

यह भी पढ़ें – Raipur Breaking : शंकर नगर के कारोबारी के बेटे का अपहरण ; 30 लाख मांगी गयी थी फिरौती ; पुलिस ने युवक को छुड़ाया किडनैपर से ; 3 गिरफ्तार

मोबाइल फार्मेट किया

आरोपी ने अपना मोबाइल फार्मेट कर दिया है। पुलिस के मुताबिक आशीष की गिरफ्तारी के बाद ही आरोपी ने अपने मोबाइल को फार्मेट कर दिया था। इससे पुलिस को इसमें कुछ खास डाटा नहीं मिला है।

दो की जमानत याचिका खारिज

ड्रग्स पैडलर आशीष जोशी और निकिता पंचाल ने बुधवार को न्यायालय में जमानत याचिका दायर किया था। इस पर सुनवाई करते हुए न्यायालय ने दोनों की जमानत याचिका खारिज कर दी। उल्लेखनीय है कि इससे पहले पांच आरोपियों की याचिका खारिज हो चुकी है।

यह भी पढ़ें – Breaking news : भनपुरी स्थित प्राइवेट स्कूल में फीस के 15 लाख का गबन ; महिला कैशियर पर आरोप ; गिरफ्तार कर पुलिस ने किया ये खुलासा