सिटी न्यूज रायपुर – बीरगांव 

बीरगांव के ब्यास तालाब और आसपास के जमीनों के साथ साथ सैकडों एकड जमीन के जमींदार अग्रवाल बंधुओं द्वारा बोरसी के किसान भाईयों को पिछले पांच साल से प्रताडित किया जा रहा है  !!

बीरगांव निवासी चोवाराम देवांगन ने बताया कि 30 साल पहले उनके पिताजी श्री कुंजराम देवांगन जो कि रेलवे के शासकीय नौकरी से रिटायर हुवे थे तब रिटायरमेंट से प्राप्त एकमुश्त पैसे से बोरसी गांव के किसान यादव और सोनी से 20 एकड जमीन खरीदे थे , लेकिन रजिस्ट्री के वक्त मंगल अग्रवाल द्वारा किसानों से पावर आफ अटर्नी लेकर रजिस्ट्री कर दिया गया और पटवारी रिकार्ड में नामांतरण वगैरह हो गया, तब से लेकर आज तक 30 साल से कुंजराम देवांगन परिवार खुद उक्त कृषी जमीन पर खेती बाडी कर रहे थे !

चार साल पहले जब कुंजराम देवांगन की मृत्यु के बाद उनके वारिसान सर्वसम्मति से बिटिया की शादी एवम् मकान बनाने पैसे की जरूरत पडने पर उक्त कृषी जमीन को बेचने का सौदा पक्का किया गया, तत्संबंध में बिक्री नकल की मांग करने बोरसी पटवारी के पास गये तब पटवारी ने बताया कि मंगल अग्रवाल के भाई राजेश अग्रवाल ने sdm और तहसीलदार से आदेश कराकर बिक्री नकल जारी करने पर रोक लगा दिया गया है !!

पिछले चार साल से परेशान किसान परिवार न्याय के लिये दर दर भटक रहा है लेकिन 30 साल से खेती बाडी कर रहे पीडित किसान का पक्ष जानें बगैर राजेश अग्रवाल के पक्ष में एकतरफा निर्णय लेकर राजस्व विभाग ने किसान को मुख्यमंत्री से गुहार लगाने मजबूर कर दिया  !!

पीडित छत्तीसगढिया किसान भाईयों की पीडा को देखकर क्रांतिसेना के युवानेता बेदराम साहू ने कहा कि एैसे ही प्रताडना के शिकार छत्तीसगढ के किसान आत्महत्या करने मजबूर होते है, लेकिन हम एैसा नही होने देगें , हम पीडित किसान को न्याय दिलाकर रहेगें चाहे जो भी करना पडे, हम अग्रवाल बंधुओं का अत्याचार बर्दाश्त नही करेगें, सैकडों एकड पर जबरदस्ती कब्जा करने वाले और सीधे सादे भोले भाले छत्तीसगढिया किसान भाईयों के जमीन को हडपने वाले ये दाऊ परिवार भिखारी से भी बदतर है , हम कलेक्टर और राज्य शासन से मांग करते है कि –

1 –  राजेश अग्रवाल बंधुओं से शासन में वेष्ठित की जाने वाली भूमी 107 एकड जमीन तत्काल अधिग्रहित किया जाये जो बरसों से ऱाजेश अग्रवाल परिवार टालते आ रहे है और उसका लाभ ले रहे है,  उक्त 107 एकड में बीरगांव ब्यास तालाब और बिलासपुर मुख्यमार्ग से लगी बेशकीमती जमीन को भी अधिग्रहित किया जाये ताकि छत्तीसगढिया किसानों और सरकार को बरसों से चुना लगाने वाले अत्याचारी जमींदारों को सबक मिल सके  !!

2 – बोरसी के कृषी जमीन को 30 साल पहले राजेश अग्रवाल का बडा भाई मंगल अग्रवाल ने छत्तीसगढिया सीधे सादे परिवार को बेचकर रजिस्ट्री किया था , उसी जमीन पर फिर से 25 साल बाद विक्रेता का सगा भाई राजेश अग्रवाल अपना जमीन बताकर कब्जा करने का प्रयास कर रहा है, किसान को प्रताडित कर रहा है, एैसे फ्राड व चार सौ बीसी करने वाले राजेश अग्रवाल पर अपराधिक प्रकरण दर्ज कर तत्काल गिरफ्तार करने की मांग छत्तीसगढ क्रांतिसेना द्वारा की गई है  !!

3 –  30 साल से काबिज और पंजीकृत कृषी जमीन को अभी बिक्री पर रोक लगाने से पहले पीडित पक्ष को सुनवाई का मौका दिये बगैर एकतरफा फैसला करने एवम् पीडित किसान के पक्ष में सर्वोच्च संस्थान कृषी बोर्ड के आदेश के बावजुद गुमराह करने वाले  ऱाजस्व अधिकारियों को सस्पेंड करने की मांग की गई है  !!

4 –  छत्तीसगढ क्रांतिसेना के युवा नेता बेदराम साहू ने कहा कि यथाशीघ्र न्याय नही मिलने पर मुख्यमंत्री भुपेश बघेल के निवास के सामने धरना प्रदर्शन कर उग्र आंदोलन किया जायेगा  !!

सिटी न्यूज रायपुर – बीरगांव