सिटी न्यूज CN

रायपुर – बीरगांव – छत्तीसगढ़

बीरगांव से बडी और गंभीर खबर आपको बता दें कि डेढ करोड रुपए की गांजा की अवैध तस्करी में रंगे हाथों पकडाये संजय सिंह नामक व्यक्ति जो कि बीरगांव के वार्ड 21 कैलाशनगर से कांग्रेस पार्टी का पार्षद है , अपने चार साथियों के साथ उड़ीसा से दो बडे ट्रक और डंपर में छुपाकर डेढ करोड रूपये का दस क्विंटल गांजे के साथ पकडा गया है, वह छोटी मोटी नही बल्कि डम्फर भर के दो ट्रक में दस क्विंटल से ज्यादा गांजा की तस्करी का कारोबार करने वाला अपराधी कोई और नही बल्कि खुद कांग्रेस पार्टी का नेता और पार्षद भी है वार्ड की समस्या और विकास छोडकर नशे के अवैध कारोबार में लिप्त हो गए !

इस खबर के बाद लोगों ने यह बडा सवाल खड़ा कर दिया है कि पिछले कई महीनों से कांग्रेस का यह पार्षद उडीसा से गांजा खरीदकर रायपुर, छत्तीसगढ़ तथा उत्तरप्रदेश में बेचा करता था, दो दो डम्फर भर के गांजा वह भी कई महीनों से लगातार , तो सोचिये एक बार मे डेढ करोड रुपए के गांजा के साथ पकडाया है तो अब तक ये कांग्रेसी पार्षद कितने अरब रुपये का नशे का अवैध कारोबार कर चुका होगा !!

अब सवाल यह उठता है कि क्या बिना सरकार के मदद या संरक्षण के अरबों रूपये का नशे का अवैध कारोबार करना संभव है, लोग सवाल यह भी कर रहे हैं कि यदि पुलिस  की मिलीभगत नही थी तो अब तक रायपुर या छत्तीसगढ़ के पुलिस उसे क्यों नहीं पकड पायी…जबकि लॉकडाउन में सभी वाहनों की स्पेशली जांच छत्तीसगढ़ पुलिस करती रही है, क्या छत्तीसगढ़ पुलिस द्वारा उन्हें जानबूझकर छोड़ दिया जाता था…?

बीरगांव के पूर्व पार्षद श्री इकराम अहमद ने बताया कि कांग्रेस के पार्षद और डेढ करोड के गांजा जैसे नशे के अवैध कारोबार में संजय सिंह की गिरफ्तारी के बाद पार्टी ने उन्हें निकाल बाहर कर दिया है,

लाकडाउन में सभी गाडियों की सुक्ष्म जांच के बावजूद डेढ करोड का दस क्विंटल गांजा ट्रक और डम्फर को रायपुर , छत्तीसगढ़ पुलिस के नजर में कैसे नही आई, या कोई साठगांठ है ये अभी जांच का विषय है !!

बड़ी खबर : विधायक प्रतिनिधि ज्ञानेंद्र उपाध्याय ने थामा कांग्रेस का दामन: जोगी कांग्रेस को पड़ा झटका

बीजेपी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनकी माँ कोरोना पॉजिटिव, दिल्ली के मैक्‍स अस्पताल में हैं भर्ती

source