city news wishes for ram mandir

बीते 12 घंटे में 74 नए कोरोना संक्रमित मिले, सबसे ज्यादा कवर्धा में एक साथ 42 मामले, अस्पताल ले जाने के लिए एंबुलेंस कम पड़ीं

10
  • शनिवार को मेडिकल बुलेटिन में 23 नए संक्रमितों की जानकारी दी गई थी, सुबह होते ही कोरोना संक्रमण के मामले बढ़े
  • स्वास्थ्य कर्मी भी इसकी चपेट में, बिलासपुर, रायपुर और कवर्धा में मेडिकल स्टाफ को हुआ कोरोना

07 june 2020

City News – CN

रायपुर | छत्तीसगढ़ में रविवार सुबह 74 नए कोरोना संक्रमित मिले। स्वास्थ्य विभाग की तरफ से कहा गया है कि नए कोरोना पाज़िटिव मरीजों में जिला कवर्धा से 42,रायपुर से 11,दुर्ग से 6, जशपुर और बलौदाबाजार से 3-3, रायगढ़, महासमुंद, कोरबा और बिलासपुर से 2-2, बेमेतरा में 1 संक्रमित मिला। इससे पहले शनिवार रात 23 केस मिले थे।  

एंबुलेंस कम पड़ गई, जानवरों सा सलूक 

श्रमिकों को खाना इसी तरह दूर से फेंककर दिया जा रहा है, भोजन जमीन पर गिर रहा है, हाथ में बर्तन लिए लोग इंतजार कर रहे हैं, फोटो - राकेश जायसवाल
श्रमिकों को खाना इसी तरह दूर से फेंककर दिया जा रहा है। भोजन जमीन पर गिर रहा है। हाथ में बर्तन लिए लोग इंतजार कर रहे हैं। फोटो – राकेश जायसवाल

कवर्धा के एक क्वारैंटाइन सेंटर में कोरोना के डर और बढ़ते संक्रमण की वजह से अमानवीय तस्वीरें देखने को मिलीं। यहां के महराजपुर के लाइवलीहुड क्वारैंटाइन सेंटर में रह रहे लोगों को बर्तन में दूर से खाना दिया जा रहा है। चावल को एक व्यक्ति फेंक कर दे रहा है, इससे जमीन पर भी भोजन गिर रहा है। एक साथ 42 कोरोना संक्रमित मिलने की वजह से अव्यवस्था उजागर हो रही है। सभी को एक साथ क्वारैंटाइन में रखा गया है, पांच एंबुलेंस ही मौजूद हैं। कुछ संक्रमित राजनांदगांव ले जाए जाएंगे तो कुछ रायपुर। 

शॉपिंग मॉल बंद रहेंगे 
रायपुर और प्रदेशभर में कंटेनमेंट जोन को छोड़कर 8 जून सोमवार से  धार्मिक स्थल, पार्क, रेस्त्रां और होटल खोले जा सकेंगे। जबकि क्लब, स्पोर्टिंग कॉम्पलेक्स और स्टेडियम में केवल आउटडोर खेल हो सकेंगे। जबकि शॉपिंग मॉल बंद रहेंगे।

हालांकि मॉल खुलने की पोस्ट शहर के माहापौर एजाज ढेबर के फेसबुक पेज पर साझा की गई है। सचिव जीएडी कमलप्रीत सिंह द्वारा जारी निर्देश में कहा गया है कि रेस्टोरेंट में केवल टेक-अवे की अनुमति पहले की तरह होगी।

इसी तरह होटल संचालन की अनुमति पहले की तरह ही निर्धारित उपयोग के लिए केंद्रीय गाइडलाइन के मुताबिक होगी। वहीं, आदेश में कहा गया है कि धर्मस्थलों में संगीत तो बजेंगे, लेकिन कलाकारों को जुटाकर भजन-कीर्तन जैसे समारोह आयोजित नहीं किए जा सकेंगे।

बिलासपुर के बस स्टैंड में हाथ धोने का पानी नहीं 

बिलासपुर में तिफरा बस स्टैंड में मजदूर आ रहे हैं, यह जानते हुए भी यहां कोई व्यवस्था करने में प्रशासन की दिलचसपी नहीं है।
बिलासपुर में तिफरा बस स्टैंड में मजदूर आ रहे हैं, यह जानते हुए भी यहां कोई व्यवस्था करने में प्रशासन की दिलचसपी नहीं है।

तिफरा बस स्टैंड में 14 मई से लेकर अब तक ऐसा कोई दिन या रात नहीं जब मजदूर न आ रहे हो। यहां सफाई को लेकर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। कोरोनावायरस से बचाव के लिए हाथ धोना अनिवार्य है, लेकिन वॉश बेसिन में तीन दिन से पानी ही नहीं आ रहा है।

सफाई कराने के लिए भी सामाजिक कार्यकर्ताओं को दबाव बनाना पड़ता है। लोग दो-दो दिन तक घर जाने के लिए यहां बसों का इंतजार करने के लिए मजबूर है। रात में मच्छर इतने हैं कि वे सो नहीं पाते और सोने का कोई इंतजाम प्रशासन ने नहीं किया है।

कई मजदूर परिवार ऐसे हैं जिनके पास ठीक बिस्तर भी नहीं है। भीड़ अधिक होने पर कुछ लोगों को शौचालय के बाहर भी सोते देखा जा सकता है। सिरगिट्‌टी पुलिस ने वहां टेंट लगाया है, लेकिन पुलिस के नाम पर कुछ एसपीओ ही नजर आते हैं। 

रायगढ़ में क्वारैंटाइन से भागे चार लोगों पर एफआईआर
प्रवासी मजदूरों को 14 दिन क्वारैंटाइन सेंटर में और 7 दिन होम आइसोलेशन में रहना था। थाना सरिया के ग्राम कमरीद व पहंदा थाना सारंगढ़ के लोग अपने घर में ना रहकर घर के बाहर रिश्तेदारों के साथ एवं बाजार में घूमते देखे गए। तहसीलदारों की रिपोर्ट पर कार्रवाई की गई।

थाना लैलूंगा क्षेत्र ग्राम कुपाकानी के क्वारैंटाइन सेंटर में रखे गए दो व्यक्ति धरम साय एवं अनवर शुक्रवार की शाम सेंटर से भाग गए थे।  दोनों की पतासाजी कर उन्हें वापस क्वारैंटाइन सेंटर में रखा गया। दोनों के विरुद्ध क्वारैंटाइन नियमों का उल्लंघन करने पर थाना लैलूंगा में धारा 188 , 269, 270 के तहत मामला दर्ज किया गया है। 

दुर्ग में बना नया कोविड अस्पताल 

इस अस्पताल को संक्रमण के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए तैयारी किया गया है।
इस अस्पताल को संक्रमण के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए तैयारी किया गया है।

दुर्ग जिले में शनिवार को कोरोना के 10 नए मरीज मिले। इसमें एक पुलिस आरक्षक, 7 प्रवासी मजदूर और 2 बालोद जिले के मरीज है। इन सबको देर रात जुनवानी स्थित कोविड अस्पताल में शिफ्ट किया गया।

श्री शंकराचार्य इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस परिसर स्थित दुर्ग में कोविड अस्पताल को तैयार किया गया है। इसमें 115 मरीजों के इलाज की सुविधा है। अभी यहां 45 मरीजों का इलाज चल रहा है। इस डेडीकेटेड कोविड अस्पताल के आईसीयू में 15 और एचडीयू में 35 बिस्तर हैं।

65 सामान्य बिस्तरों पर भी कोविड-19 की इलाज की सुविधा है। यहां भर्ती पुरूष एवं महिला मरीजों को अलग-अलग वार्डों में रखा गया है। आइसोलेटेड 16 बिस्तरों वाले सभी वार्डों में चार-चार स्नानगृह और चार-चार शौचालय हैं। 

ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए  – 

हमारे   FACEBOOK  पेज को   LIKE   करें

सिटी न्यूज़ के   Whatsapp   ग्रुप से जुड़ें

हमारे  YOUTUBE  चैनल को  subscribe  करें

Source link

Leave a comment ...