Home India news Chhattisgarh news

मंगलवार से बस संचालन शुरू हुई, प्रथम चरण में 2 बसे चलेंगी….जानिए कहा के लिए रवाना होगी।

Whatsapp button

रायपुर। परिवहन मंत्री मोहम्मद अकबर से मिले आश्वासन के बाद मंगलवार से बसों का संचालन शुरू हो गया है। प्रथम चरण में दो बसे रायपुर से झारखंड और अंबिकापुर से रायपुर के लिए रवाना की गई है। वही बसों के संचालन को लेकर ऑपरेटरों के बीच चल रही अंदरूनी खींचतान सामने आ गई है। बिना सूचना दिए बड़ी बसों का संचालन करने से महासंघ से जुड़े पदाधिकारियों ने नाराजगी जताई है।

इसे लेकर छत्तीसगढ़ यातायात महासंघ अध्यक्ष प्रकाश देशलहरा ने बसों के संचालन को लेकर बुधवार को 12 बजे दुर्ग में प्रदेश स्तरीय बैठक बुलाई है। इस दौरान बसों के संचालन का फैसला लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि सोशल मीडिया पर कुछ लोगों के द्वारा भ्रमक खबरे फैलाई जा रही है।

यह भी पढ़े : कोरोना संक्रमण ज्यादा खतरनाक छोटे बच्चों ( शिशु ) के लिए ; इस तरीके से बनाइये ड्राई फ्रूट पाउडर ; बच्चे को बनाइये अंदर से मजबूत

वहीं संगठन के चल रहे घमासान को देखते हुए छोटी बसों के मालिक और जिला पदाधिकारी चुप्पी साधकर बैठे हुए है। उनका कहना है कि बिना पूर्व सूचना कुछ बड़ी बसों के मालिक खुद ही निर्णय ले रहे है। महासंघ के किसी भी पदाधिकारियों से बिना चर्चा किए एकतरफा फैसला लिया गया है।

अंतरराज्यीय बसें शुरू

परिवहन मंत्री मोहम्मद अकबर से चर्चा के बाद बड़ी बसों का संचालन शुरू कर दिया गया है। रायल ट्रेवल्स के संचालक अनवर अली ने बताया कि शाम 6.20 बजे रायपुर से पड़वामोड़ (झारखंड) और रात 9.30 बजे अंबिकापुर से रायपुर के लिए रवाना हुई।

इसमे रायपुर से 10 यात्री और अंबिकापुर से 11 यात्री को लेकर बस रवाना हुई। वहीं बुधवार से रायपुर जगदलपुर मार्ग पर विभिन्न ट्रेवल्स की 12 बस और इसी तरह अंतरराज्यीय मार्गों पर 7 बसों का संचालन किया जाएगा। बताया जाता है कि पिछले काफी समय से खड़ी इन बसों में पहियों का हवा तक निकल गई थी। वहीं इंजन भी बैठ गया था।

यह भी पड़े : PUBG हुआ Ban, साथ ही सरकार ने 117 चीनी ऐप्स पर भी लगायी प्रतिबंध……देखिये पूरी सूची।

बस संचालक का सांसद सोनी को ज्ञापन
बस संचालकों ने मंगलवार को रायपुर लोकसभा सांसद सुनील सोनी से मुलाकात कर केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन के नाम ज्ञापन सौंपा है। इसमें वर्तमान स्थिति को देखते हुए केंद्र सरकार से मांग की है कि बसों के मासिक किश्त का ब्याज माफ किया जाए।

साथ ही अनयूज्ड बसों के इंश्योरेंस की छूट, टोल टैक्स की दोगुनी वसूली रोकने कहा गया है। सांसद सुनील सोनी ने उन्हे आश्वासन दिया कि वह जल्दी ही केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन से इससंबंध में चर्चा कर उचित न्याय दिलाने सार्थक पहल करेंगे।

Youtube button

   विज्ञापन  के लिए संपर्क करें – 8889075555