बीजापुर। छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले से बड़ी खबर सामने आई है। यहां अगवा किए गए इंजीनियर अशोक पवार और उनके साथी मजदूर को नक्सलियों ने रिहा कर दिया है। बता दें कि बीते शुक्रवार को नक्सलियों ने दोनों को बेदरे निर्माणाधीन पुलिया से अगवा किया था। अपहरण के पांच दिनों बाद आज नक्सलियों ने दोनों को रिहा कर दिया है। एएसपी ने रिहाई की पुष्टि कर दी है। 

अगवा इंजीनियर अशोक पवार की पत्नी सोनाली पवार अपने पति की रिहाई के लिए नक्सलियों से गुहार लगाई थी। अपने पति की रिहाई के लिए वो घनघोर जंगलों में भी दाखिल हुई थी। यही नहीं उन्होनें आदिवासी नेता सोनी सोरी से भी अपील की थी कि वह नक्सलियों के कब्जे से उनके पति को छुड़वा दें।

बता दें कि 10 फरवरी को सुबह 9 बजे बेदरे इलाके में इंद्रावती नदी पर बन रहे नये पुल का निरीक्षण करने निजी कंस्ट्रक्शन कंपनी के इंजीनियर अशोक पवार और एक राज मिस्त्री कार्यस्थल पहुंचे हुए थे। इस दौरान निरीक्षण करते नदी के उस पार राज मिस्त्री और अशोक पवार पहुंच गए। यहां पर सादे वेशभूषा में आए दो नक्सली उन दोनों से पूछताछ करने लगे। जिसके बाद कुछ ही देर में हथियारबंद वर्दीधारी नक्सली अपने साथ इंजीनियर और राज मिस्त्री को घने जंगलों की ओर ले गए थे।