• City News Raipur
  • Corona affecting society

प्रशासन द्वारा शादियों में बारात निकालने की अनुमति नहीं दी जा रही है लेकिन दूल्हे घोड़ी जरूर चढ़ेंगे। दरअसल शहर में जब हमने घोड़ी वालों से बात की तो उनका कहना है कि कम मुहूर्त में भी उनके पास पर्याप्त बुकिंग है। इसका मतलब तो यही निकलता है कि बारात भले ही न निकले लेकिन रस्म अदायगी जरूर होगी यानि दूल्हा अपने घर से निकलते समय कुछ दूर बग्घी घोड़ी पर सवार दिखेगा फिर शादी घर में कुछ दूर पहले से घोड़ी में चढ़ा हुआ नजर आएगा।

हालांकि हर दूल्हा घोड़ी पर चढ़ेगा यह जरूरी नहीं है। यह उनके परिवार के रिवाज पर निर्भर करेगा। कोरोना महामारी ने त्योहार, पर्व, रीति-रिवाज से लेकर सभी कुछ प्रभावित किया है। मार्च से लॉकडाउन लगने के कारण शादी समारोह सबसे अधिक प्रभावित हुए। अक्षय तृतीया पर अबूझ मुहूर्त में भी इस साल शादियां बहुत ही कम हुईं। 25 नवंबर देवउठनी एकादशी से शादियां होना शुरू तो हो गई हैं लेकिन इसमें प्रशासन की अनुमति लेनी पड़ रही है।

CORONA BREAKING : आज प्रदेश में 1890 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले, आज कुल 13 लोगो की कोरोना से मौत…. देखिये पूरी रिपोर्ट

अभी प्रशासन द्वारा जो अनुमति मिल रही है उसके मुताबिक वर-वधु और पंडित सहित दोनों पक्ष के अधिकतम 200 लोग ही शादी में शामिल हो सकेंगे। अनुमति पत्र की 7वीं शर्त में यह स्पष्ट रूप से लिखा गया है कि बारात निकालने पर पूर्णत: प्रतिबंध रहेगा। हालांकि कुछ लोग चुपचाप बगैर किसी अनुमति के बारात निकाल रहे हैं।

गौरतलब है बिलासपुर एसडीएम क्षेत्र में ही देवउठनी के बाद के मुहूर्त में शादी के लिए 200 लोगों ने अनुमति लेने अर्जी दे रखी है। एसडीएम देवेंद्र पटेल का दावा है कि सुबह आवेदन देने पर शाम तक अनुमति दे दी जा रही है लेकिन कुछ लोग जिन्हें अनुमति मिली है उनका कहना है कि 2 से 3 दिन भी लग रहे हैं।

डीजे वाले बाबू का गाना नहीं बज रहा

शादी समारोह में बारात निकले और डीजे न हो तो लोगों का उत्साह ही कम हो जाता था। कोरोना के कारण बारात नहीं निकल रही और सड़कों पर डीजे वाले बाबू का गाना भी नहीं बज रहा। संचालक साउंड सर्विस संघ बिलासपुर के अध्यक्ष एवं न्यू डीजे कान्हा के संचालक विजय कश्यप का कहना है कि कार्यक्रम स्थल में 10 बजे तक डीजे बजाने की अनुमति के चलते बहुत ही कम बुकिंग हो रही। पिछले सालों में जहां 15 बुकिंग मिलती थी अभी सिर्फ दो बुकिंग मिली है। यही हाल शहर के अनेक डीजे संचालकों का है।

अच्छी खबर : बैंक अफसर बताकर लोगों से ठगी करने वाले शातिर पकडे गए ; पुलिस ने झारखंड से किया गिरफ्तार

अभी के मुहूर्त में 15 बुकिंग

6 घोड़ी रखने वाले पंडा भाई घोड़ी बग्घी वाले शेख अकील का कहना है कि अभी 30 नवंबर और दिसंबर के सभी मुहूर्त में हर दिन की बुकिंग है। लॉकडाउन में पालने के लिए कर्जा लेना पड़ा था लेकिन अब स्थिति ठीक हो रही है। अभी के मुहूर्त में 15 बुकिंग मिल गई है जो कि पिछले सालों की तुलना में आधी ही है।

उन्होंने बताया कि पहले घोड़ी बग्घी लेकर दूल्हे के घर जाते हैं वहां से कुछ तक बारात निकालने के बाद फिर घोड़ी बग्घी लेकर शादी समारोह स्थल से कुछ दूर पर जाते हैं यहां से दूल्हे को घोड़ी में सवार कर समारोह तक ले जाते हैं। शहर में लगभग 60 घोड़ी बग्घी हैं। सभी के पास पर्याप्त बुकिंग हैं।

BIG BREAKING : किसान इंडिया बायोटेक के नाम से करोड़ों की ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश ; 3 आरोपी गिरफ्तार