• सिटी न्यूज रायपुर – बीरगांव

छत्तीसगढ महतारी की प्रतिमा लगाने से ठीक पहले अधिकारियों द्वारा चबूतरा तोड दिये जाने से भडके प्रदेश भर के आम छत्तीसगढिया…

बेटे की गलती के कारण विधायक की हो रही चौतरफा किरकिरी …

कल 17 जनवरी को सुबह 10 बजे से बीरगांव के बुधवारी बाजार में लगेगी छत्तीसगढ महतारी और स्व. जोगी जी की प्रतिमा 

सुबह 11 बजे से बाल कलाकार आरू साहू का होगा भव्य कार्यक्रम

छत्तीसगढ के कांग्रेस सरकार में कंही सतनाम भवन तोड देना, जैतखाम जला देना और अब छत्तीसगढियों के स्वाभिमान छत्तीसगढ महतारी और प्रदेश के प्रथम छत्तीसगढिया मुख्यमंत्री अजीत जोगी के प्रतिमा स्थापना के लिये बनाये गये चबूतरा स्तूप को भी सरकार द्वारा ही तोड दिये जाने से आक्रोशित आम छत्तीसगढिया, कांग्रेस विधायक और उनके बटों को नमकहराम की संज्ञा देकर कह रहे है “जिस थाली में खाना – उसी थाली में छेद करना” जैसे शब्द लिखकर सोशल मीडिया के माध्यम से दे रहे है उन्हें चेतावनी। 

छत्तीसगढ में रहना , छत्तीसगढ का पानी , छत्तीसगढ का खाना, छत्तीसगढ की जनता के वोट से ताकतवर बनना और उसके बाद उसी ताकत का दुरूपयोग छत्तीसगढ , छत्तीसगढिया और छत्तीसगढ महतारी के विरूद्ध किये जाने से भडके युवानेता प्रदीप साहू ने कहा कि परदेशिया नेता के भोकवा टुरा मन परदा के पीछे रहिके राजनीति करत हे, हमर महतारी अउ माटी पुत्र के खिलाफ  षडयंत्र रचत हे,, सीधा साधा छत्तीसगढिया मन ल भडकावत हे, आपस में लडावत हे ,, लेकिन हम छत्तीसगढ महतारी अउ जोगी जी के मूर्ति छत्तीसगढ में 36 जगह लगा के रहिबोन , जेन परदेशिया म दम होही रोक के दिखा देवय,, महतारी के खातिर जान देबर घलो हम सब तैयार हबन…!!

statue of late shri ajit jogi - first chief minister of Chhattisgarh
statue of late shri ajit jogi – first chief minister of Chhattisgarh

बेदराम साहू और एवज देवांगन ने बताया कि बीरगांव में छत्तीसगढ महतारी की स्थापना पर रोक लगाने षडयंत्र रचकर नेतापुत्र द्वारा अधिकारियों की पूरी ताकत झोंककर महतारी के  चबूतरा को तोड देने वाले गददार नेता नही चाहते कि छत्तीसगढ में छत्तीसगढिया लोग छत्तीसगढ महतारी की पूजा कर सके, गौरवांवित हो सके, ये वही दुष्ट लोग है जो बीरगांव में आज छत्तीसगढ महतारी के मूर्ति के लिये पांच फीट भी जमीन नही देने पूरी ताकत झोंक  दिया है, जो व्यक्ति राजस्थान से खाली लोटा लेकर आये थे, वही लोग आज हमारे छत्तीसगढ महतारी के  ( राजधानी के मेन रोड पर  300 एकड खेती जमीन पर ) कई अरब रूपये की संपत्ती पर कब्जा किये बैठे है, सरकार से अपने पद और पावर का दुरूपयोग करके  फ्री में 300 एकड खेत को नाम भी चढा लिया है , उसी जमीन पर डेयरी से कमाई कर रहे है , मछली पालन, धान गेंहू की दो फसली खेती कर लूट रहे है, उसी कब्जा के बदौलत आज वो लोटाधारी राजधानी का सबसे अमीर और अहंकारी आदमी बन बैठा है, छत्तीसगढियों के वोट से ताकतवर बनकर छत्तीसगढियों और छत्तीसगढ महतारी के खिलाफ ही बल प्रयोग कर पद पावर का  दुरूपयोग कर रहा है , एवज ने कहा कि अति का अंत तो – निश्चित होता ही है   !!

डा. ओमप्रकाश देवांगन, भीखम देवांगन और डा. शकील ने शासन प्रशासन को चुनौती देते हुवे कहा कि छत्तीसगढ महतारी और प्रथम मुख्यमंत्री स्व. अजीत जोगी के मूर्ति स्थापना हेतु  नगर निगम महापौर, आयुक्त, कलेक्टर और राज्य शासन को 23 दिसम्बर 2020 को ही  विधिवत पत्र लिखकर अनुमति की मांग की गई थी लेकिन आज 16 जनवरी 2021 तक यानि 24 दिन बाद भी किसी विभाग ने हमारे आवेदन को निरस्त नही किया है इसलिये अनुमति मिलने की प्रत्यासा में ( 17 जनवरी चूंकि नगर पालिका बीरगांव का स्थापना दिवस भी है और स्व. जोगी जी ने ही बीरगांव को पंचायत से नगर पालिका का दर्जा दिया था इसलिये )  17 जनवरी को सुबह 10 बजे बीरगांव के बुधवारी बाजार में ही छत्तीसगढ महतारी के 4 फीट आदमकद और अजीत जोगी के  ढाई फीट की प्रतिमा स्थापित किया जायेगा , दोनो की मनमोहक मूर्ति बीरगांव पहुंच चुकी है , संपूर्ण तैयारियां की जा चुकी है , नगर निगम कार्यालय, बुधवारी बाजार सहित आसपास के  पुरे क्षेत्र भव्य झालर की रौशनी से जगमग हो चुका है,, ढोल बाजे, गगनचुंबी जयकारा, और भव्य पुष्प वर्षा के साथ छत्तीसगढ महतारी और स्व. जोगी जी के मूर्ति का स्थापना होकर ही रहेगा, दुष्ट और राक्षसी प्रवृति के राजनेताओं के राजनीतिक षडयंत्र को असफल करने सभी प्रकार की तैयारियां भी कर ली गई है  !!