चीनी कंपनी ने भारतीय मजदूरों को काम से निकाला, प्रबंधन ने कार्रवाई कर रुकवाया काम

22 June 2020,

India news, 

City News – CN  City news logo

बालाघाट: भारत सरकार की मिनी रत्न कंपनी मैग्नीज ओर इंडिया लिमिटेड की बालाघाट खदान में कार्यरत चीनी कम्पनी चाइना कोल-3 के खिलाफ कड़ा एक्शन लिया गया है। इस कंपनी पर भारतीय मजदूरों को काम पर नहीं रखे जाने को लेकर कंपनी का काम बंद करने की कार्रवाई की गई है।

विदित हो कि भारत—चीन के बीच चल रहे तनाव केच चायनीज कंपनी चाइना कोल-3 ने भारतीय मजदूरों को कोराना संक्रमण फैलने के बहाने काम पर नहीं लिया था। इसी बात को लेकर मजदूरों ने आंदोलन भी किया था।

यह भी पढ़ें – बड़ी खबर : मुख्यमंत्री के आदेश का हुआ उल्लंघन, बेखौफ खनन जारी।

इसके बाद मॉयल में ढाई सौ करोड रुपए की लागत से अंडरग्राउंड शॉफ्ट का निर्माण कर रही इस कंपनी के काम को रोक दिया गया है। चीनी कम्पनी को दिए गए नोटिस में यह स्पष्ट निर्देश है कि जब तक कंपनी भारतीय मजदूरों को काम पर नहीं लेगी तब तक कंपनी भारत में काम नहीं कर सकती है।

Breaking -   छत्तीसगढ़ के प्रभारी मंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता शिव डहरिया ने मरवाही के संतकुमार नेताम पर लगाया गंभीर आरोप, कहा - पिछले सरकार का मोहरा है यह संतकुमार नेताम...देखिए वीडियो

मैग्नीज और इंडिया लिमिटेड की कोल 3 नामक कंपनी में भारतीय साल 2019 से काम कर रहे थे। कंपनी ने यहां खदान के अंडर ग्राउंड में एक नई शॉफ्ट निर्माण का ठेका ढाई सौ करोड़ रुपए में लिया है। लॉकडाउन के दौरान कंपनी का काम भी बंद हो गया था।

यह भी पढ़ें – पुरी में रथ यात्रा आयोजित करने सुप्रीम कोर्ट ने दी अनुमति, स्वास्थ्य से समझौता किए बिना समन्वय बनाने के निर्देश

दस दिन पहले कंपनी ने चीन से चल रहे सीमा विवाद के बीच यहां पुनः काम शुरू किया। लेकिन इस बार पूर्व से काम कर रहे 62 भारतीय मजदूरों को काम पर नहीं लगाया। इसी बात को लेकर मजदूरों ने आवाज उठाई, इस सरकारी कंपनी प्रबंधन ने भी मजदूरों की बहाली को लेकर कंपनी से चर्चा की। लेकिन कंपनी भारतीय मजदूरों को काम पर लेने से इनकार कर दिया।

अंतत: मॉयल प्रबंधन ने चीनी कंपनी के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करते हुए उसे काम बंद करने का आदेश जारी कर दिया है। जारी निर्देश में साफ-साफ लिखा है कि जब तक भारतीय मजदूरों को काम पर नहीं लिया जाएगा, तब तक यह कंपनी यह काम नहीं कर सकती है।
Share on :