सिटी न्यूज रायपुर  CN

रायपुर  – छत्तीसगढ़

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और प्रदेश के पूर्व मंत्री श्री राजेश मूणत ने कहा कि प्रदेश सरकार ने सबको मुफ़्त आबादी पट्टा देने की बात कही थी और अब प्रदेशभर में दशकों से क़ाबिज़ लोगों को ज़मीन खाली करने की लाखों रुपए की डिमांड नोटिस थमा रही है। ग़रीब और मध्यमवर्गीय परिवार के लोग तो नोटिस मिलते ही परेशान हो रहे हैं और मुफ़्त आबादी पट्टा देने का झांसा देकर उनके सामने अब बेघर होने की नौबत प्रदेश सरकार ने ला दी है।

श्री राजेश मूणत ने कहा कि गरीबों का हक मारते हुए अब कांग्रेस सरकार ने भू माफियाओं से सांठगांठ कर लिया है. वोट के लालच में पहले कहा था गरीबों को पट्टा देंगे लेकिन महीनों गुजर जाने के बाद अब पट्टे की जगह डिमांड नोटिस थमाया जा रहा है. डिमांड नोटिस में तय की गई रकम जो लाखों में है उसे मिलने के बाद ही गरीबों को अधिकार देने की बात कहीं जा रही है. क्या यह सही है..??? एक दूसरे फैसले में भूपेश सरकार ने इंतजाम किए हैं कि अब खाली सरकारी जमीने लोगों को बेचेंगे. प्रदेश के भविष्य से यह एक तरह का बड़ा खिलवाड़ है. सुनहरे भविष्य में जब सुख सुविधाओं के लिए जमीनों की जरूरत पड़ेगी तब निश्चित है भारी संकट के दौर से पूरे प्रदेश की जनता बेवजह खामियाजा भुगतेगी.. जो सरकार ने फैसला किया था आज वही मुकर गई है. प्रदेश को विकासशील राज्य ना बनाकर केवल उसे गर्त में ले जाने रास्ता तय किया है. यह सचमुच निंदनीय और गंभीर है. !!