क्वारंटाइन सेंटर में रहने वालों को सिगरेट, बीड़ी, गुड़ाखू, गुटखा या शराब इत्यादि के नशे की अतितलब से बेचैनी हो – तो चिकित्सक को फोन लगा सकते हैं …

सिटी न्यूज रायपुर –

कोरोना वायरस के संक्रमण काल में जिले के क्वारंटीन केंद्रों में बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूरों को क्वारंटरीन पर रखा गया है। इनमें से कुछ लंबे समय से सिगरेट, बीड़ी, गुड़ाखू, गुटखा या शराब इत्यादि के नशे के आदी रहे हैं। ऐसे में महासमुंद मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ एसपी वारे के निर्देशन में जिला तंबाकू नशा मुक्ति केंद्र द्वारा लगातार दौरा कर क्वारंटीन केंद्रों में नशा उन्मूलक जागरूकता जानकारी दी जा रही है।

यह भी पढ़ें -   कांग्रेस के वरिष्ठ नेता श्री दिग्विजय सिंह पहुंचे जोगी बंगला - अमीत जोगी ने किया आभार व्यक्त...!!

शनिवार 27 जून 2020 को सरायपाली के ग्राम कनकेवा के क्वारंटीन केंद्र में जब कुछ कोरोना संदिग्ध मरीजों ने नशे की तलब से अधिक बेचैनी होने की परेशानी बताई तो राष्ट्रीय तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम के सामाजिक कार्यकर्ता असीम श्रीवास्तव द्वारा उन्हें मनोवैज्ञानिक तरीकों से स्वयं को नियंत्रण में रखने की सलाह देते हुए अधिक परेशानी होने पर क्वारंटीन केंद्र में रोजाना स्वास्थ्य परीक्षण करने आ रहे चिकित्सकों और स्वास्थ्यकर्मियों से खुल कर बात करने के साथ-साथ निःसंकोच परामर्श एवं दवा लेते रहने की सलाह दी गई।

यह भी पढ़ें -   बीरगांव - उरकुरा के सड़क पर स्टीमर और मोटरबोट...

Share on :