Home awareness

कोरोना संक्रमितों की बढ़ती संख्या से एम्स-अंबेडकर अस्पताल में कम पड़े बिस्तर, नए मरीजों की बढ़ी परेशानी।

Whatsapp button

रायपुर। एम्स और अम्बेडकर अस्पताल में कोरोना के आइसीयू वार्ड भर गए हैं। ऐसे में गंभीर मरीजों के लिए इलाज की समस्या सामने आ रही है। बता दें कि दोनों अस्पताल में कोरोना के लिए 500-500 बिस्तर हैं। इसमें से एम्स में 40 और आंबेडकर अस्पताल में 34 आइसीयू बिस्तर हैं। दोनों अस्पतालों के वार्ड भर चुके हैं। अब संक्रमण के साथ अन्य बीमारियों से पीडि़त गंभीर मरीजों के लिए आफत आ गई है। कई मरीजों को संदेह के आधार पर निजी अस्पतालों में जाना पड़ रहा है, लेकिन आर्थिक भार वहन न कर पाने की वजह से दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा। अम्बेडकर अस्पताल प्रबंधन ने बताया कि शनिवार शाम तक अस्पताल में आइसीयू के संक्रमित मरीज समेत 426 कोरोना मरीज भर्ती हैं।
एम्स में कोविड-19 वार्ड में एडमिट रोगियों की संख्या 356 पहुंच गई है। यहां 28 संदिग्ध रोगी भी एडमिट हैं। एम्स की वीआरडी लैब में शनिवार को 101 सैंपल पॉजीटिव पाए गए हैं, जिनमें रायपुर के 55 सैंपल शामिल हैं। एम्स के डायरेक्टर नितिन एम नागरकर के अनुसार कोविड-19 वार्ड में 13 प्रसव पूर्व और प्रसव उपरांत महिलाएं उपचार प्राप्त कर रही हैं। इनके अलावा सात पॉजीटिव बच्चे भी यहां उपचार प्राप्त कर रहे हैं। वीआरडी लैब में अब तक 102952 सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं। शनिवार को यहां 696 सैंपल टेस्ट किए गए। यहां पॉजीटिव पाए गए 101 सैंपल में रायपुर के 55, दुर्ग के 37, बेमेतारा के 7, बिलासपुर और राजनांदगांव के एक-एक सैंपल शामिल हैं।

यह भी पढ़े : Big Breaking : रायपुर में कोरोना का बड़ा विस्फोट, रायपुर के इन इलाकों से मिले कुल 694 मरीज।

प्राइवेट अस्पतालों को भी कोविड के इलाज के लिए अधिकृत किया गया है। कोरोना के बढ़ते मामलों की वजह से ज्यादातर कोविड सेंटर फुल हैं। अब सरकार ने कुछ प्राइवेट अस्पतालों को भी कोविड के इलाज के लिए अधिकृत किया है। इन निजी अस्पतालों में भी कोविड मरीजों के इलाज, आइसोलेशन एवं होम-केयर की अनुमति दी गई है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा अनुमति प्राप्त अस्पतालों में खुद के खर्च पर मरीज भर्ती होकर कोविड-19 के उपचार, आइसोलेशन सुविधा या होम आइसोलेशन में रह रहे लोग होम-केयर की सुविधा प्राप्त कर सकते हैं। रायपुर के एनएच एमएमआई, श्री नारायणा अस्पताल, वी-वाई अस्पताल, श्री बालाजी अस्पताल, रामकृष्ण केयर अस्पताल, मेडिशाइन अस्पताल, ओम अस्पताल, भाटिया अस्पताल, सुयश अस्पताल, संकल्प अस्पताल, लाइफवर्थ अस्पताल, वी-केयर सुपरस्पेशियालिटी अस्पताल, कालड़ा बर्न एंड प्लास्टिक सर्जरी इंस्टीट्यूट को इसके लिए अनुमति प्रदान की गई है। नवा रायपुर के बालको अस्पताल, बिलासपुर के अपोलो और अंबिकापुर के जीवन ज्योति अस्पताल को भी इसकी अनुमति दी गई है।

Youtube button

   विज्ञापन  के लिए संपर्क करें – 8889075555