city news wishes for ram mandir

कोरोना वायरस से संक्रमित महिला ने दिया बच्चे को जन्म, मां-बच्चे की हालत स्थिर

14

रायपुर, चार जून (भाषा) छत्तीसगढ़ में रायगढ़ जिले के कोविड-19 अस्पताल में कोरोना वायरस से संक्रमित महिला ने बच्चे को जन्म दिया है।

मां और बच्चे की हालत स्थिर है। राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को यहां बताया कि रायगढ़ के कोविड-19 अस्पताल के चिकित्सकों को कोरोना वायरस से संक्रमित 24 वर्षीय महिला का सुरक्षित प्रसव कराने में सफलता मिली है।

प्रसव के बाद मां और बच्चा दोनों की हालत स्थिर है। बच्चा पूरी तरह स्वस्थ है और वह संक्रमित नहीं है। अधिकारियों ने बताया कि गर्भवती महिला के कोविड-19 से संक्रमित होने के कारण सुरक्षित प्रसव कराना चुनौतीपूर्ण था।

सिटी न्यूज़ रायपुर 

रायगढ़ |  छत्तीसगढ़ में रायगढ़ जिले के कोविड-19 अस्पताल में कोरोना वायरस से संक्रमित महिला ने बच्चे को जन्म दिया है।

मां और बच्चे की हालत स्थिर है। राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को यहां बताया कि रायगढ़ के कोविड-19 अस्पताल के चिकित्सकों को कोरोना वायरस से संक्रमित 24 वर्षीय महिला का सुरक्षित प्रसव कराने में सफलता मिली है।

प्रसव के बाद मां और बच्चा दोनों की हालत स्थिर है। बच्चा पूरी तरह स्वस्थ है और वह संक्रमित नहीं है। अधिकारियों ने बताया कि गर्भवती महिला के कोविड-19 से संक्रमित होने के कारण सुरक्षित प्रसव कराना चुनौतीपूर्ण था।

राज्य के कोविड-19 अस्पतालों में ऑपरेशन के जरिए प्रसव का यह पहला मामला था। उन्होंने बताया कि जम्मू से लौटी रायगढ़ के सारंगढ़ विकासखंड निवासी गर्भवती महिला को गांव के पृथक-वास केंद्र में रखा गया था।

वहां से उसे 31 मई को रायगढ़ जिला चिकित्सालय भेजा गया था, जहां उसका नमूना जांच के लिए भेजा गया। संक्रमित पाए जाने के बाद उसे कोरोना वायरस के मरीजों का उपचार करने के लिए रायगढ़ में चिह्नित किए गए अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

जहां दो जून की सुबह डॉक्टरों की टीम की मदद से महिला ने बच्चे को जन्म दिया। अधिकारियों ने बताया कि मां और बच्चे की हालत स्थिर है। इससे पहले रायपुर स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में एक जून को कोविड-19 से संक्रमित मुंगेली की 23 वर्षीय महिला ने बच्चे को जन्म दिया था।

एम्स के अधिकारियों ने बताया कि स्त्री रोग विभाग की अध्यक्ष डॉक्टर सरिता अग्रवाल के निर्देशन में चिकित्सकों की एक टीम की मदद से महिला ने बच्ची को जन्म दिया। अधिकारियों ने बताया कि महिला की लगातार दो रिपोर्ट में उसके संक्रमित नहीं पाए जाने के बाद दो जून को बच्ची को मां को सौंप दिया गया।

उन्होंने बताया कि बच्ची भी संक्रमित नहीं पाई गई है और दोनों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।

Leave a comment ...