सिटी न्यूज रायपुर CN

रायपुर  –  छत्तीसगढ़

रायपुर – नई गाइड लाइन के मूताबिक अब कोरोना संक्रमित मरीजो का सेम्पल लेना जरूरी नहीं होने की बात सामने आ रही है। अगर पहले सेम्पल के बाद मरीज में 10 दिनों तक कोरोना वायरस का कोई खास लक्षण नजर नहीं आता है तो उसे पूरी तरह स्वस्थ माना जाएगा। वहीं अस्पताल से मरीज की छुट्टी कर दी जाएगी। इस दौरान मरीज का सेम्पल लेना जरूरी नहीं है। पर अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद भी मरीज को 7 से 14 दिनों तक होंम क्वॉरेंटाइन में रहना अनिवार्य होगा। जिसकी मोनिटरिंग स्वास्थ्य विभाग द्वारा की जाएगी।

यहाँ ये बताना लाज़मी है कि नई गाइड लाइन में दिए गए निर्देशो के आधार पर कोरोना पॉजिटिव के हल्के लक्षण वाले मरीजों के पल्स ऑक्सीमीटर और थर्मामीटर से जांच करना जरूरी है.मरीज को 10 दिनों तक बुखार या अन्य लक्षण नजर नही आने के बाद ही अस्पताल से छुटी दी जाएगी। वही ऐसे मरीजों के आरटी पीसीआर सेम्पल की जांच कराना जरूरी नहीं होने की बात भी सामने आ रही है।

प्रदेश में लगातार बढ़ रहे किलर कोरोना के चलते अब राज्य सरकार ने नई गाइडलाइन जारी की है.जिसके तहत अब अस्पताल में केवल गंभीर कोरोना संक्रमित मरीज का ही इलाज 10 दिन से अधिक किया जाएगा.

वही जिन मरीजों में कोरोना के कम लक्षण है उन मरीजो को 10 दिनों के उपचार के बाद डिस्चार्ज कर घर मे ही होम आइसोलेट करने की बात सामने आ रही। गौरतलब है कि पूर्व की गाइड लाइन के अनुसार लक्षण के आधार पर कोरोना संक्रमित मरीजो की हर तीसरे दिन आरटी पीसीआर जाच कराई जाती थी। जिसकी दो रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद कोरोना संक्रमित मरीज को स्वस्थ मान कर हॉस्पिटल से डिस्चार्ज कर दिया जाता है। पर आए दिन कोरोना के सैकड़ों मामले सामने आने से स्वास्थ्य विभाग के पसीने छूटने लगे है। साथ ही दबाव भी बढ़ रहा है।