सिटी न्यूज CN 08 Jun

रायपुर। छत्तीसगढ़ में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है, यहां अब तक 1073  से अधिक कोरोना मरीजों की पुष्टि हो चुकी है। हालात को देखते हुए आईसीएमआर ने कोरोना पॉजिटिव मरीजों को लेकर बड़ा फैसला लिया है। आईसीएमआर ने कोरोना मरीजों को तीन भागों में बांटकर इलाज करने का फैसला लिया है। इस संबंध में जानकारी मंत्री टीएस सिंहदेव ने स्वयं दी है।
मंत्री सिंहदेव ने ट्वीट कर ​कहा है कि जैसा कि हम कोरोना के खिलाफ लड़ाई में अपने रुख को मजबूत करने के लिए तत्पर हैं। आईसीएमआर ने हमारे चिकित्सा संसाधनों के अनुकूलित उपयोग की योजना तैयार की है। जिन रोगियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, उन्हें उनके लक्षण के आधार पर वर्गीकृत किया जाएगा।
1 – जिन रोगियों को स्पर्शोन्मुख या हल्के लक्षण हैं, उन्हें पहले परीक्षण के बाद 10 दिनों तक डॉक्टरों की निगरानी में रखा जाएगा। इसके बाद मरीज को 7 दिन तक घर पर ही क्वारंटाइन रहना होगा।
2 – यदि लगातार 3 दिनों तक बुखार न हो तो किसी भी परीक्षण की आवश्यकता नहीं होती है।
3 – यदि मरीजों को तीन दिन से अधिक बुखार नहीं आता और ऑक्सीजन कमी महसूस नहीं होती तो उन्हें डिस्चार्ज कर दिया जाएगा।

 

TS Singh Deo
@TS_SinghDeo

As we look forward to strengthen our stance in the fight against COVID, ICMR has laid a plan for optimised usage of our medical resources. The patients who have tested positive shall be categorised on the basis of their symptoms. (1/3)

View image on Twitter

TS Singh Deo

@TS_SinghDeo

View image on Twitter

TS Singh Deo

@TS_SinghDeo

The patients who are asymptotic or have mild symptoms will be kept in facilities for 10 days from 1st display of symptoms & will be advised self quarantine for 7 days at their residence post discharge. No testing is required in case there’s no fever for 3 consecutive days(2/3)

TS Singh Deo

@TS_SinghDeo

The patients who are asymptotic or have mild symptoms will be kept in facilities for 10 days from 1st display of symptoms & will be advised self quarantine for 7 days at their residence post discharge. No testing is required in case there’s no fever for 3 consecutive days(2/3)

TS Singh Deo

@TS_SinghDeo

The patients with more serious issues like fever for more than 3 consecutive days and if on oxygenation will be discharged only after:

● Resolution of clinical symptoms
● Ability to maintain oxygen saturation of more than 95% for 3 consecutive days. (3/3)