Wednesday, October 28, 2020
Tel: 8889075555
Home India news Chhattisgarh news

अमित जोगी बोले – जोगी को हराना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन था, बचा था यही हथकंडा…जोगी कांग्रेस कार्यकर्ता भडके – हार के डर से लोकतंत्र की कर दी हत्या…!!

सिटी न्यूज रायपुर – मरवाही

मरवाही,17 अक्टूबर 2020। आख़िरकार ओपन सिक्रेट सार्वजनिक हो गया है। नामांकन की जाँच के दौरान अमित जोगी का जाति प्रमाण पत्र निरस्त किए जाने का अभिलेख ज़िला निर्वाचन अधिकारी को पेश कर दिया गया है। यह आदेश बीते 15 अक्टूबर को जारी होना उल्लेखित है। यह आदेश राज्य स्तरीय जाति छानबीन समिति ने जारी किया है।

राज्य स्तरीय छानबीन समिति ने अमित जोगी के जाति प्रमाण पत्र को निरस्त कर दिया है। इसी के साथ अमित जोगी के नामांकन को ख़ारिज होना अब तय है। कुछ ही देर में इसका अधिकारिक ऐलान होना है।
बीते एक घंटे से ज़िला निर्वाचन कार्यालय बहस जारी है। अमित जोगी ने हालाँकि उच्च स्तरीय छानबीन समिति के इस आदेश को लेकर नियमों का हवाला देते हुए तर्क दिया है कि इस आदेश की ना कॉपी दी गई ना जवाब देने का समय दिया गया है।

अमित के इस तर्क के बावजूद अब केवल औपचारिक नामांकन ख़ारिज की घोषणा बची है.. 

करीब 120 मिनट चली बहस.. 90 मिनट बोले अमित जोगी.. नियमों का हवाला देकर माँगा समय.. ज़िला निर्वाचन अधिकारी ने कहा “जो कहना है अभी कहिए.. समय नही दूँगा” और फिर घोषित किया- “अमित ऐश्वर्य जोगी का नामांकन निरस्त करता हूँ”

मरवाही उप चुनाव के 19 प्रत्याशियों के नामांकन पर दावा आपत्ति की जाँच में सबसे ज्यादा समय नवमें नंबर पर लगा। यह नवमां नंबर था अमित जोगी का। करीब करीब ढाई घंटे बाद अमित जोगी बाहर आए जबकि ज़िला निर्वाचन अधिकारी ने फ़ैसला सुरक्षित रख लिया जिसे कुछ देर बाद सार्वजनिक करते हुए घोषित किया

“मैं अमित ऐश्वर्य जोगी का नामांकन निरस्त करता हूँ”

अमित जोगी के नामांकन में आपत्ति कांग्रेस के अलावा गोंडवाना गणतंत्र पार्टी की ओर से उर्मिला मार्को और निर्दलीय प्रताप सिंह भानू ने की थी। तीनों ही के पास राज्य स्तरीय छानबीन समिति के उस आदेश की कॉपी थी जिसमें अमित जोगी का जाति प्रमाण पत्र निरस्त किया गया था।

इस आदेश की कॉपी अमित जोगी के पास नही थी। अमित जोगी के रायपुर स्थित निवास पर यह आदेश अब से कुछ देर पहले दिए जाने की प्रक्रिया पूरी की जा रही है।

बहस के दौरान निर्वाचन निर्देशिका कंडिका 12 का उल्लेख करते हुए अमित जोगी ने जवाब देने के लिए वक़्त माँगा जिसे ज़िला निर्वाचन अधिकारी ने अस्वीकार कर दिया था।
अमित जोगी ने सिटी न्यूज से कहा कि…

“यह आदेश कल जारी किया गया है, इसकी कॉपी मेरे पास नहीं थी,मुझे आपत्ति के वक्त यह आदेश की कॉपी दी गई। मैंने नियमों का हवाला देते हुए जवाब के लिए समय माँगा वो भी नही दिया गया। मेरे विरुद्ध जारी आदेश की कॉपी मुझ तक नहीं पहुँची पर आपत्तिकर्ताओं को मिल गई। जबकि अभी पूरी बहस हो चुकी, इस आदेश की कॉपी अभी मेरे निवास पर मुझे दिए जाने की प्रक्रिया चल रही है”

मरवाही उपचुनाव : नामांकन रद्द होने के बाद अमित जोगी बोले- जोगी को हराना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन था, बचा था यही हथकंडा…

मरवाही उपचुनाव के लिए नामांकन रद्द होने के बाद जेसीसीजे अध्यक्ष अमित जोगी ने बड़ा बयान दिया है। अमित जोगी ने कहा है कि जोगी को हराना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन था। सरकार के पास यही हथकंडा बचा था। मेरे परिवार को राजनैतिक रूप से खत्म करने की साजिश की जा रही है, लेकिन आखिरी सांस तक “जोगी परिवार” मरवाही की जनता की सेवा करेगी। उन्होंने पार्टी के उम्मीदवारी को लेकर कहा है कि प्रत्याशी कौन होगा कोर कमेटी में निर्णय लिया जाएगा। हम इस मामले को आगे कोर्ट में ले जाएंगे।

बता दें राज्य छानबीन समिति ने अमित जोगी का जाति प्रमाण पत्र रद्द करने के साथ ही नामांकन भी रद्द कर दिया है। अमित जोगी अब मरवाही चुनाव नहीं लड़ पाएंगे। समिति ने इसके पीछे अजीत जोगी की जाति का हवाला दिया। समिति ने तर्क दिया है कि 23 अगस्त 2019 को हाई पावर कमेटी ने अजीत जोगी को कंवर नहीं माना था। बेटे की जाति पिता की जाती से निर्धारित होती है। ऐसे में अमित जोगी को कंवर नहीं माना जा सकता।

मरवाही उपचुनाव 2020 : बड़ी खबर : अमित जोगी नहीं लड़ पाएंगे मरवाही उपचुनाव, फिर भी जेसीसीजे के 3 उम्मीदवार अब भी मैदान में

अमित जोगी का जाति प्रमाण पत्र निरस्त

FIR के दिए आदेश, ऋचा जोगी मैदान में

  • जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़(जे) के नेता अमित जोगी के खिलाफ अब एफआईआर दर्ज होगी. राज्य स्तरीय छानबीन समिति ने अमित जोगी पर एफआईआर दर्ज कराने के आदेश दिए हैं. छानबीन समिति की जाँच में ये बात सामने आई है कि अमित जोगी कंवर आदिवासी नहीं है. अमित जोगी ने कंवर आदिवासी का जाति प्रमाण पत्र धोखे से बनवाया है।
  • जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) नेता अमित जोगी को बड़ा झटका लगा है. अमित जोगी का जाति प्रमाण पत्र निरस्त कर दिया गया है. राज्य स्तरीय छानबीन समिति ने अमित जोगी के कास्ट सर्टिफिकेट को निरस्त कर दिया है. हालाँकि अभी मरवाही उप चुनाव के लिए अमित जोगी द्वारा भरे गए नामांकन को रद्द नहीं किया गया है. जाति प्रमाण पत्र निरस्त होने के बाद अब देखना होगा कि अमित जोगी मरवाही उपचुनाव लड़ पाएंगे या नहीं।
  • सूत्रों की मानें तो अमित जोगी की जाति प्रमाण पत्र निरस्त होते ही अमित जोगी द्वारा मरवाही उपचुनाव के लिए भरा गया नामांकन स्वमेव ही शून्य घोषित हो गया है. ऐसे में अमित जोगी मरवाही उपचुनाव नहीं लड़ पाएंगे. इधर अमित जोगी ने अमित जोगी ने इस संबंध में अपना पक्ष रखने के लिए दो दिन का वक्त मांगा है. बता दें कि 31 अक्टूबर 2013 को अमित जोगी को कंवर जाति का प्रमाण पत्र जारी किया गया था. जारी किये गए इस प्रमाण पत्र को राज्य स्तरीय छानबीन समिति ने निरस्त कर दिया है।

छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस से

3 उम्मीदवार अब भी मैदान में


  • छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस (जेसीसीजे) से अध्यक्ष अमित जोगी और उनकी पत्नी ऋचा जोगी के अलावा दो और उम्मीदवारों ने नामांकन भरा है। माना जा रहा है कि जाति विवाद के पेंच को देखते हुए यह कदम उठाया गया है।
  • जोगी परिवार को कहीं न कहीं आशंका है कि उनके प्रमाणपत्र का विवाद मरवाही उपचुनाव में खलल डाल सकता है। इसे देखते हुए पुष्पेश्वरी तंवर और मूलचंद सिंह का भी नामांकन कराया गया है। अगर जोगी परिवार से किसी का पर्चा निरस्त होता है तो दोनों में से कोई एक जोगी कांग्रेस से उम्मीदवार होगा।

सिटी न्यूज रायपुर….